यदि होना है मालामाल तो कृष्ण जन्माष्टमी के दिन करें इनमें से कोई भी 2 उपाय

0
529

1. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

जिस दिन सृष्टि के पालनहार श्रीहरि ने धरती पर मानव अवतार लिया था, भला उस दिन से शुभ क्या हो सकता है? वह दिन अति महान है, वह स्थान जहां उन्होंने जन्म लिया वह महान है, उनके जन्म के समय आसपास का वातावरण भी खुद को भाग्यशाली समझता होगा।

2. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

यह बातें मात्र कहने की नहीं हैं, ना केवल इसका सिर्फ भावनात्मक महत्व है। अपितु स्वयं ज्योतिषियों ने श्रीहरि के धरती पर आने के दिन को अत्यंत शुभ बताया है।

3. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

भगवान विष्णु के आठवें मानवरूपी अवतार, श्रीकृष्ण के जन्म को प्राचीन काल से लेकर आज तक हर्षोल्लास से मनाया जाता है। आज भी जन्माष्टमी से एक हफ्ते पूर्व ही मंदिरों में कृष्ण के नाम की गूंज उठने लगती है।

4. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

घरों में भी साफ-सफाई करके, जन्माष्टमी की तैयारियां आरंभ कर दी जाती हैं। लोग अपने घर के मंदिर की सफाई करते हैं, वहां नन्हे गोपाल की मूर्ति स्थापित करते हैं एवं उन्हें नए-नए वस्त्र और आभूषण पहनाते हैं।

5. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

लेकिन इसके अलावा कुछ लोग इस दिन ज्योतिषीय उपचार भी करते हैं। ज्योतिषियों की राय में कृष्ण जन्म यानी कि जन्माष्टमी का दिन बेहद शुभ होता है।

6. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

जिस दिन विष्णु भगवान के आठवें अवतार ने जन्म लिया था, उस दिन बेहद लाभकारी नक्षत्र और योग बने थे। इन्हीं योगों में मनुष्य विभिन्न लाभ पा सकता है।

7. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

लेकिन क्या आप जानते हैं कि भगवान कृष्ण के जन्म और अंक 8 के बीच क्या संबंध है? इस पर भी बेहद गहराई से ज्योतिषीय शोध किया गया है, जिसके बाद विभिन्न तथ्य सामने आए हैं।

8. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

अंक 8 का और भगवान कृष्ण का एक गहरा रिश्ता है। सबसे पहले वे भगवान विष्णु के 8वें अवतार थे। दूसरा, वे देवकी के 8वें पुत्र थे। तीसरा, उनका जन्म भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की रात्रि के सात मुहूर्त निकलने के बाद आठवें मुहूर्त में हुआ था।

9. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

कहते हैं उनके जन्म के समय जिन ग्रह-नक्षत्रों का मिलन हुआ, उन्होंने बेहद शुभ योग बनाया। श्रीकृष्ण के जन्म के समय रोहिणी नक्षत्र तथा अष्टमी तिथि थी जिसके संयोग से जयंती नामक योग उत्पन्न हुआ।

10. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

उपरोक्त बताए तमाम तथ्यों को जानने के बाद, अब आप स्वयं ही समझ गए होंगे कि भगवान कृष्ण का जन्म ना केवल धर्म एवं भावना के अनुसार अहमियत रखता है, वरन् इसका ज्योतिषीय विश्लेषण भी काफी गहरा है।

11. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

तो चलिए हम आपको कुछ ऐसे ज्योतिषीय उपचार बता देते हैं, जिन्हें यदि आप कृष्ण जन्माष्टमी के दिन करेंगे, तो भगवान कृष्ण आप पर कृपा बरसाएंगे। उन्हें प्रसन्न कर आप विभिन्न देवताओं का आशीर्वाद पा लेंगे।

12. पहला उपाय

पहला उपाय

यह उपाय आपकी आर्थिक स्थिति को सुधारने एवं आपको धनवान बनाने के लिए है। इस उपाय के अनुसार आप जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण को सफेद मिठाई या खीर का भोग लगाएं। इस खीर में तुलसी के पत्ते अवश्य डालें। इससे भगवान श्रीकृष्ण जल्दी ही प्रसन्न हो जाते हैं।

13. दूसरा उपाय

दूसरा उपाय

जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण का अभिषेक करना भी, आपकी आर्थिक स्थिति को तेजी से सुधार सकता है। आप इस दिन दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान श्रीकृष्ण का अभिषेक करें। इस उपाय से मां लक्ष्मी की कृपा बरसती है और साधक मालामाल हो जाता है।

14. तीसरा उपाय

तीसरा उपाय

जन्माष्टमी के दिन श्रीकृष्ण को प्रसन्न करने के लिए अब जो उपाय हम आपको बताने जा रहे हैं, वह यदि आप पूरी श्रद्धा से कर लें तो यकीनन आपको फल प्राप्त होगा।

15. तीसरा उपाय

तीसरा उपाय

इस उपाय के अनुसार जन्माष्टमी के दिन सुबह जल्दी उठकर, स्नानादि करके किसी कृष्ण मंदिर में जाएं एवं वहां जाकर तुलसी की माला से आगे बताए जा रहे मंत्र का 11 माला जप करें और अंत में भगवान श्रीकृष्ण को पीला वस्त्र व तुलसी के पत्ते अर्पित करें। मंत्र – “क्लीं कृष्णाय वासुदेवाय हरि: परमात्मने प्रणत: क्लेशनाशाय गोविंदाय नमो नम:”

16. चौथा उपाय

चौथा उपाय

यदि आप मंत्र जाप ना कर सकें, तो केवल पीले रंग के कपड़े, पीले फल व पीला अनाज दान कर सकते हैं। इससे भी भगवान कृष्ण प्रसन्न होते हैं और साथ ही मां लक्ष्मी की कृपा भी प्राप्त होती है।

17. पांचवां उपाय

पांचवां उपाय

यह उपाय वे लोग आसानी से कर सकते हैं, जिन्होंने अपने घर के मंदिर में ही बाल गोपाल को स्थापित कर जन्माष्टमी का पर्व मनाने की योजना बनाई हो।

18. पांचवां उपाय

पांचवां उपाय

उपाय के अनुसार जन्माष्टमी आरंभ होते ही, यानी कि रात ठीक 12 बजे भगवान श्रीकृष्ण का केसर मिश्रित दूध से अभिषेक करें। यह उपाय आपको मालामाल कर सकता है, श्रीकृष्ण कभी भी ऐसे जातक की तिजोरी धन से वंचित नहीं होने देते हैं।

19. छठा उपाय

छठा उपाय

आर्थिक स्थिति को सुधारने या उसे सही बनाए रखने के लिए एक और उपाय है, जो कोई भी कर सकता है। इसके अनुसार जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करते समय दिल से प्रार्थना करें और उन्हें कुछ रुपए अर्पित करें। पूजा समाप्त होने के बाद ये रुपए अपने पर्स में रख लें। इससे आपकी जेब कभी खाली नहीं होगी।

20. सातवां उपाय

सातवां उपाय

अंतिम उपाय कुछ इस प्रकार है – जन्माष्टमी को शाम के समय तुलसी को गाय के घी का दीपक लगाएं और ॐ वासुदेवाय नम: मंत्र बोलते हुए मां तुलसी की 11 बार परिक्रमा करें। इससे जीवन के दुख-दर्द नष्ट हो जाएंगे।

Comments

comments

LEAVE A REPLY