इस “गोल्डन मिनट” में मांगेंगे भगवान से दुआ तो ज़रूर सुनी जाएगी आपकी फरियाद

0
385

एक गोल्डन मिनट – सपने सभी देखते हैं औऱ उनके पूरा होने का इतंज़ार भी करते हैं।

लम्बे वक्त तक जब कोई सपना पूरा नहीं होता तो दिल में ये बात भी रहती है कि आखिर कब मेरा सपना पूरा होगा, कब मनचाही मुराद मिलेगी। इसके लिए जी तोड़ मेहनत तो ज़रूरी है ही लेकिन साथ ही साथ भगवान से भी हम अपने सपने को पूरा करने के लिए और अपनी ख्वाहिश के  पूरा होने के लिए दुआ करते हैं।

यूं तो हर भक्त मन में पूरे विश्वास और श्रध्दा के साथ कोई भी दुआ मांगता है और उसके पूरा होने का भरोसा भी रखता है लेकिन क्या आप जानते हैं कि पूरे दिन में एक ऐसा वक्त होता है जब आप जो मांगते हैं वो दुआ ज़रूर कुबूल होती है।

हो सकता है आपको पढ़ने में थोड़ा अजीब लग रहा हो लेकिन ये बात एकदम सच है। दिन में एकबार आने वाली ये घड़ी कुछ ऐसी होती है कि इसमें आप अपनी मनचाही मुराद भगवान तक पहुंचा सकते हैं और उसके पूरा होने के भी पूरे चांसेज़ होते हैं।

बचपन से आप सुनते आए होंगे कि पूरे दिन में एक ऐसी घड़ी आती है जब आपके मुंह से निकली हर बात सच होती है, आपकी मांगी हुई हर दुआं कुबूल होती है, ऐसा कहा जाता है कि इस वक्त आपकी ज़ुबां पर मां सरस्वती का वास होता है इसलिए आप जो भी कहते हैं या जो भी मांगते हैं वो पूरा होता है।

जी हां, दिन में एक बार आने वाला ये पल जिसे आप गोल्डन मूमेंट भी कहते हैं, इसका इतंज़ार सभी को रहता है। बड़े-बुजुर्गो से इस गोल्डन के बारे में आप भी कईं बार सुना होगा लेकिन एक गोल्डन मिनट कब आता  है, दिन का कौन सा  क्षण ऐसा होता है जब हमारी मांगी गई दुआ सीधे भगवान तक पहुंचती है, जब हमारी ख्वाहिश पूरी होती है।

क्या आप जानते हैं कि एक गोल्डन मिनट की गणना किस प्रकार की जाती है, वैसे आपको बता दूं कि इसकी गणना करने का भी अपना सिध्दान्त है, अपना अलग मानक है। इसकी गणना महीने और दिन के आधार पर की जाती है जैसे कि अभी फरवरी का महीना चल रहा है और आज 5 तारीख है तो आज का गोल्डन मिनट, 5.02 होगा, इसी प्रकार अगर जनवरी का महीना हो और तारीख 22 हो तो गोल्डन मिनट 22.01 होगा।

जैसे इस वक्त एक गोल्डन मिनट की गणना करने के लिए हम पहले तारीख को रखते हैं और फिर महीने को लेकिन आपको बता दे कि 25 से 31 तारीख के लिए हम इसका उलट करते हैं। यानी की इन दिनों में गोल्डन मिनट की गणना के लिए हम पहले महीना रखेंगे और फिर तारीख।

27 जनवरी का गोल्डन मिनट, 1.27 मिनट होगा। इस प्रकार बड़ी ही आसानी से आप किसी भी दिन के एक गोल्डन मिनट की गणना कर सकते हैं लेकिन इस गोल्डन मिनट में कोई भी विश मांगने के लिए ज़रूरी है कि दिल में पूरा विश्वास और मन में सच्चाई रखी जाए तभी ये मुमकिन है कि आपकी दुआ कबूल होगी।

तो चलिए अब आप भी दिन औऱ महीने के हिसाब से इस समय की गणना करें और इसके बाद अपने दिल में पूरी श्रध्दा और सच्चाई रखकर  अपने दिल की इच्छा को ईश्वर तक पहुंचाएं। वो आपकी मनोकामना जरूर पूरी करेंगे।

एक बात का और ध्यान रखें कि इसके लिए सबसे ज़रूरी है कि आप भगवान, उनके बनाए नियमों पर यकीन रखें।

Comments

comments

LEAVE A REPLY