भाग्यांक 1 का रहस्य

    0
    2897

    भाग्यांक 1 का रहस्य

    अंक शास्त्र में भाग्यांक 1 अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है. भाग्यांक द्वारा कोई भी व्यक्ति अपना व्यवसाय व कैरियर तथा अन्य उपयोगी बातों को जान सकता है. अंक ज्योतिष में भाग्यांक को बहुत ही महत्वपूर्ण माना गया है. मूलांक से भी प्रभावशाली भाग्यांक रहा है, भाग्यांक जीवन का वह महत्वपूर्ण अंक जिसके द्वारा व्यक्ति अपने जीवन के अनेक उतार चढ़ावों को जानने में सक्षम हो पाता है. अब सवाल यह आता है कि भाग्यांक जाना कैसे जाए?

    भाग्यांक जानने के लिये, जन्म तिथि, जन्म मास और जन्म वर्ष की आवश्यकता होती है.

    उदाहरणः माना किसी जातक का जन्म 23 दिसंबर 1982 का है, तो उस जातक का भाग्यांक निम्नलिखित तरीके से निकाला जा सकता है. जन्म तारीख, जन्म मास और जन्म वर्ष = भाग्यांक

    जन्म तारीख, 23 = 2 + 3 = 5

    जन्म माह,  12 = 1 + 2 = 3

    जन्म साल , 1982 = 1 + 9 + 8 + 2 = 20 = 2 + 0 = 2

    तो इस प्रकार इस जातक का भाग्यांक= 5 + 3 + 2 = 10 = 1 +0  = 1  इस प्रकार इस व्यक्ति का भाग्यांक 1 होगा.

    भाग्यांक 1 स्वभाव एवं गुण | Behaviour and Qualities of Bhagyank 1

    भाग्यांक एक वाले व्यक्ति आत्म निर्भर, स्वतंत्र, दृढ़ निश्चय वाले होते हैं . भाग्यांक 1 वालों में परिवार के प्रति जिम्मेदारियां निभाने का भाव समाहित रहता है. इनके अंदर अपने द्वारा लिए गए निर्णयों को अंत तक पूर्ण करने की चाह होती है, भाग्यांक ‘1’ अपने वचन को निभाने के लिए जी जान लगा सकते हैं तथा अपने कथन पर मर मिटने के लिए भी तैयार रहते हैं.

    भाग्यांक ‘1’ वाले व्यक्ति अन्य लोगों के साथ निष्पक्षता, उदार व आभार का भाव रखते हैं. भाग्यांक एक वालों में दूसरों की भावनाओं का सम्मान करने का भाव रहता है, यह किसी के साथ बुरा व्यवहार करने से बचते हैं. भाग्यांक ‘1’ वालों को जीवन में कभी-कभी बहुत लाभ मिलता है तो कभी अचानक हानि भी उठानी पड सकती है.

    भाग्यांक ‘1’ वालों में धन का संग्रह करने की आदत होती है तथा यह लोग धन बचत करने में सफल होते हैं. भाग्यांक एक वालों को धनार्जन करने तथा धन का संग्रह करने के अनेक अवसर प्राप्त होते हैं.

    भाग्यांक एक वालों में नेतृत्व करने की जन्म-जात प्रवृत्ति होती है . भाग्यांक ‘1’ में अनुशासन का पालन करने का व्यवहार देखा जा सकता है. इनमें किसी भी कार्य को उचित प्रकार से नियम पूर्वक करने की चाह देखी जा सकती है. भाग्यांक एक अपने कार्यों को बहुत प्रभावशाली तरह से पूरा करते हैं.

    भाग्यांक ‘1’ वाले व्यक्ति अपनी बुद्धिमत्ता, योग्यता एवं गुण प्रभाव के कारण कार्यों में प्रगति तथा समाज में सम्मान प्राप्त करते हैं. भाग्यांक एक वालों में प्रेम का भाव निहित होता है. इनमें प्रेम की अक्षुणता को बनाए रखने का सामर्थ भी होता है. इसी कारण इनके प्रेम संबंध तथा मैत्री संबंध दीर्घकालीन व स्थाई होते हैं.

    भाग्यांक एक के नकारात्मक लक्षण | Negative Qualities of Bhagyank 1

    भाग्यांक 1 वाले व्यक्तियों को कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए. इनमें नेतृत्व के गुण तो हैं किंतु निरंकुशता से बचने की आवश्यकता है. अनुशासन प्रिय रहें परंतु किसी पर इसे थोपें नहीं वरना इस कारण लोग आपके शत्रु बन सकते हैं. ध्यान रखना चाहिए कि कोई भी कार्य प्रेम-पूर्वक करें. आदेशात्मक प्रवृत्ति से किया गया कार्य बिगड़ सकता है.

    Comments

    comments

    LEAVE A REPLY