इनके कानों में बोलने मात्र से हो सकती है हर मनोकामना पूरी !

5824

इनके कानों में बोलने मात्र से हो सकती है हर मनोकामना पूरी !

हर इंसान के दिल में कुछ इच्छाएं और मनोकामना होती है, जिसको पूरा करने के ख्वाब वो हमेशा देखता है.

उस मनोकामना को पूर्ण करने के लिए व्रत, उपवास, पूजापाठ, हवन , यज्ञ और जाने क्या क्या करते है.

लेकिन फिर भी मनोकामना पूरी नहीं हो पाती है.

आपकी भी ऐसी कुछ मनोकामना होगी, जो पूरी नहीं हो पा रही.

तो हम आपको एक सरल और आसान उपाय बताएँगे आपकी मनोकामना पूरी होगी ! जिसमे कुछ नहीं बस सच्चे दिल से भगवान को याद करके भगवान के इन दूतों के कानो में यह बात बोलनी है.

लेकिन ध्यान रहे मनोकामना किसी के अहित, बुराई  सोचकर या किसी को नीचा दिखने की गलत भावना से ना जुड़ी हो.

तो आइये जानते है कैसे होती है मनोकामना पूरी

नंदी

Image result for नंदी

नंदी को भगवान् शिव का दूत माना जाता है और हर शिव मंदिर के बाहर नदी की मूर्ति रखी जाती है. शास्त्रों के अनुसार इस नंदी के कानों में अपनी मनोकामना बोलने से मनोकामना पूरी होती है.

मूषक

विघ्नहर्ता, मंगलकर्ता, गणेशजी की सवारी मूषक महाराज है.

गणेशजी की मूर्ति के साथ मूषक की मूर्ति भी मंदिरों में रखी जाती है. कहा जाता है कि  मूषक के कानों में अपनी मनोकामना बोलने से मनोकामना गणेशजी तक पहुँचती है और इंसान की हर मनोकामना पूरी हो जाती है.

the-statue-of-the-rat

सिंह

सिंहराज को माता रानी की सवारी कहा जाता है. माता रानी अपनी इसी सवारी के साथ आती और जाती है. इसलिए माता रानी से अपनी मनोकामना पूर्ण करने से लिए सिंह के कानो में बात बोलने से मनोकामना पूरी होने की बात कही जाती है.

tiger

यह सब देवी देवताओं की सवारियां है.  जिनके लिए कहा जाता है कि हर भगवान अपनी इन्ही सवारी में आते और जाते है.

इसलिए  जब भी मंदिर जाएँ इनके कानो में अपनी मनोकामना जरुर बोलें. यह दूत आपकी मनोकामना भगवान तक जरुर पहुंचाते है जिससे आपकी मनोकामना पूरी हो जाती है.

इससे आपको अगर फायदा नहीं हुआ, तो कोई नुक्सान भी नहीं होगा.

Comments

comments