परीक्षा में ऐसे करें तैयारी -स्टूडेंट्स के लिए वास्तु-टिप्स

772

स्टूडेंट्स में एकाग्रता की क्यों होती है कमी? : आपका बच्चा पढ़ाई करते समय कॉनसंट्रेट नहीं कर पाता? ज्यादातर स्टूडेंट्स इस तरह की समस्या से जूझते हैं और नतीजा, मेहनत करने के बावजूद वे अच्छा स्कोर नहीं कर पाते। कुछ वास्तु टिप्स को फॉलो कर ऐसी समस्याओं से निजात मिल सकती है, ट्राई कर देखें.

बच्चा अच्छा स्कोर नहीं करता? : टेस्ट पेपर सामने आते-आते आपका बच्चा पढ़ा हुआ सब भूल जाता है या कन्फ्यूज ,हो जाता है? इसका कारण है कॉनसन्ट्रेशन की कमी। वास्तु शास्त्र के अनुसार कुछ उपाय करने से बच्चे न सिर्फ कॉनसंट्रेट कर पाते हैं बल्कि अच्छा स्कोर भी कर सकते हैं।

बच्चा अच्छा स्कोर करे aur man padhai mai hamesha lage, इसके लिए तीन बातों का खयाल रखें। स्टडी रूम उत्तर या पश्चिम दिशा में हो, पढ़ाई करते समय चेहरा पूर्व या उत्तर दिशा में होना चाहिए और कॉनसंट्रेशन के लिए नीला या हरा रंग प्रयोग में लाया जाना चाहिए। अब सवाल यह है कि इन रंगों को कैसे प्रयोग में लाया जाए। स्टडी टेबल पर नीला cloth बिछाएं या लैमिनेनेशन इस रंग से करें, साथ ही कमरे के एक हिस्से में हरे रंग का बोर्ड लगा सकते हैं। इसका उल्टा भी किया जा सकता है। ज्यादा अच्छे नतीजों के लिए स्टडी रूम का दरवाजा उत्तर-पूर्व में खुले। ध्यान रखें कि पढ़ाई करते वक्त बच्चा बीम के नीचे न बैठे। स्टडी रूम में अगर कोई आइना है तो रात के समय उसे ढक दें।

स्टडी रूम में स्टडी टेबल दीवार से दूर होनी चाहिए, टेबल के सामने खाली जगह होनी चाहिए। ऐसा होने से नए आइडिया आते हैं और याददाश्त तेज होती है। जहां बच्चा बैठता हो उसके पीछे कोई दरवाजा नहीं होना चाहिए। कमरे का वातावरण अच्छा बनाए रखने के लिए कोई प्रकृति से जुड़ा कोई पोस्टर लगाया जा सकता है। स्टडी टेबल साफ-सुथरी हो और उसपर ज्यादा सामान न हो, यह सुनि़श्चित करें। इसके अलावा ध्यान रखें कि कमरे की लाइट्स आंखों को न चुभें, और अगर लैंप रखें तो टेबल के बाएं कोने में रखें।

स्टडी रूम में बहुत डार्क और डल कलर्स के प्रयोग से बचना चाहिए। हल्का नीला, क्रीम और हल्का हरा, गुलाबी और सफेद जैसे रंग स्टडी रूम के लिए अच्छे हैं। चेयर की बात करें तो बच्चों को लकड़ी की कुर्सी पर बैठना चाहिए, साथ ही बुक शेल्फ न स्टडी टेबल के सामने होना चाहिए और नही पूर्वी दीवार पर। पढ़ाई की उम्र वाले बच्चों को पूर्व या दक्षिण की ओर सर कर सोना चाहिए, उत्र की ओर सिर न करें। इसके अलावा, स्टडी टेबल पर क्रिस्टल रखने से कॉनसंट्रेशन अच्छा रहता है।

पैरंट्स के लिए टिप्स : स्टडी रूम बच्चों का प्राइवेट स्पेस है, बच्चे की इजाजत के बगैर उसकी किसी चीज को हाथ न लगाएं। उनकी किताबों को सलीके से रखें, कमरे की सफाई करें लेकिन उनकी इजाजत के बिना नहीं।

बेहतर कॉनसंट्रेशन और याददाश्त के लिए : एग्जाम्स के समय बेहतर कॉनसंट्रेशन के लिए अलग से कुछ उपाय किए जा सकते हैं। इसके लिए किसी वास्तुशास्त्री से मशविरा कर उपाय जान सकते हैं क्योंकि ग्रहों और नक्षत्रों का प्रभाव हर व्यक्ति पर अलग होता है। वास्तुशास्त्री आपको क्रिस्टल, रंग, संगीत, मंत्र आदि के द्वारा उपाय करने की सलाह दे सकते हैं।

Comments

comments