शत्रुओं को परास्त करने / नाश करने के उपाय

9288

शत्रुओं को परास्त करने / नाश करने के उपाय shatru nash ke upay

जीवन में कई बार ऐसा भी समय आता है कि कोई ताकतवर व्यक्ति / शत्रु किसी को अकारण ही परेशान करने लगता है। उससे जितना भी पीछा छुड़ाया जाय वह और भी ज्यादा परेशान करता है। उसके कारण व्यक्ति का जीना हराम हो जाता है हर समय भय, चिन्ता और असुरक्षा की भावना घेरे रहती है । उसकी शिकायत भी नहीं हो पाती है या शिकायत करने से भी कोई फायदा नहीं होता है । अनावश्यक धन की भी हानि होती है स्वास्थ्य भी ख़राब होने लगता है , मन किसी अज्ञात आशंका से भरा रहता है ।
ऐसी स्तिथि में कुछ ऐसे उपाय बताये गए है जिन्हे चुपचाप पूर्ण विश्वास से करने से शत्रु के विरुद्ध जातक के प्रयास सफल होते है, शत्रु कमजोर पड़ने लगता है / शान्त हो जाता है अथवा मित्रवत व्यवहार करने लगता है ।
इन उपायों को करने से साहस आता है, नए शक्तिशाली मददगार मिल जाते है , सम्बंधित अधिकारी जिसके पास हम मदद के लिए जाते है वह ध्यान पूर्वक समस्या को सुनता है और उचित मदद करता है ।

शत्रु को परास्त करने के अचूक और अजमाए हुए उपाय

Swastik यदि आपको कोई शत्रु अनावश्यक परेशान कर रहा हो तो एक भोजपत्र का टुकड़ा लेकर उस पर लाल चंदन से उस शत्रु का नाम लिखकर उसे शहद की डिब्बी में डुबोकर रख दें। आपका शत्रु आपका अहित नहीं कर पायेगा।

Swastik यदि कोई व्यक्ति किसी को बगैर किसी को अकारण ही परेशान कर रहा हो, तो शौच करते समय शौचालय में बैठे-बैठे वहीं के पानी से उस व्यक्ति का नाम लिखें और बाहर निकलने से पहले जिस जगह पर पानी से नाम लिखा था, उस स्थान को अपने बाएं पैर से तीन बार ठोकर मारें। लेकिन यह प्रयोग किसी बुरी भावना से न करें, अन्यथा खुद की हानि हो सकती है।

Swastik शत्रु को शांत करने के लिए साबुत उड़द की काली दाल के 38 और चावल के 40 दाने मिलाकर किसी गड्ढे में दबा दें और उसके ऊपर नीबू को निचोड़ दें। नीबू निचोड़ते समय लगातार उस शत्रु का नाम लेते रहें, इस उपाय से जैसा भी शत्रु होगा वह बिलकुल निस्तेज जो जायेगा और वह आपका कोई भी अहित नहीं कर पायेगा ।

Swastik अगर शत्रु पीछे पड़ा हो, किसी को बिना किसी कारण से परेशान कर रहा हो तो हनुमान जी की शरण में जाएँ । नित्य हनुमान जी को गुड़ या बूंदी का भोग लगाएं, हनुमान जी को लाल गुलाब चढ़ाकर हनुमान चालीसा , बजरंग बाण का पाठ करें और प्रतिदिन कच्ची धानी के तेल के दीपक में लौंग डालकर हनुमान जी की आरती करें , और अपने उनसे शत्रु को नष्ट करने / परास्त करने की प्रार्थना करें। अपनी कमीज़ की सामने वाली जेब में लाल रंग की छोटी हनुमान चालीसा रखें ,इससे संकटमोचन की कृपा से सभी तरह के अनिष्ट दूर होते है, मनोबल बढ़ता है, जातक निर्भय हो जाता है, नए और शक्तिशाली मित्र बनते है। शत्रु कुछ भी नहीं बिगाड़ पाता है और शांत हो जाता है।

Swastik यदि शत्रु बहुत अधिक परेशान कर रहा हो तो एक मोर के पंख पर हनुमान जी के मस्तक के सिन्दूर से मंगलवार या शनिवार रात्री में उस शत्रु का नाम लिख कर अपने घर के मंदिर में रात भर रखें फिर प्रातःकाल उठकर बिना नहाये धोए उस मोर पंख को बहते हुए पानी में बहा देने से शत्रु शान्त हो जाता है ।

Swastik यदि कोई व्यक्ति किसी को बगैर किसी कारण के परेशान कर रहा हो तो शनिवार की रात्रि में 7 लौंग लेकर उस पर 21 बार उसका नाम लेकर फूंक मारें और अगले दिन रविवार को इनको आग में जला दें। यह प्रयोग लगातार 7 बार करने से अभीष्ट व्यक्ति का वशीकरण होता है अगर कोई शत्रु परेशान कर रहा हो तो वह शांत हो जाता है । लेकिन ध्यान दें कि यह प्रयोग किसी बुरी भावना से अथवा किसी का अहित करने के लिए कदापि नहीं करना चाहिए ।

Comments

comments