महाशिवरात्रि के अवसर कीजिये इनमे से कोई 1 उपाय, दूर हो जायेगी सारी दरिद्रता

1417

हर साल महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है। इस साल सोमवार, ७ मार्च को महाशिव रात्रि का त्यौहार मनाया जाने वाला है। इस शुभ दिन अगर शिव जी की पूजा की जाए तो आप की सभी परेशानिया दूर हो जाएगी और आप के घर महा लक्ष्मी का वास रहेगा। धन में वृद्धि भी होगी। तो चलिए जानते है शास्त्रो ने कोनसे उपाय बताये है जिनके पालन से आप शिव जी की पूजा कर सकते है। यह पूजा सभी १२ राशियों के लोग कर सकते है।
Shivratri ko kya kare | What to do on Shivratri | Shivratri ke upay | Shivratri 2017 | Shivratri ke Totke

(1) महाशिवरात्रि पर छोटा सा पारद (पारा) शिवलिंग लेकर आए और घर के मंदिर में इसे स्थापित करे। शिवरात्रि से शुरू करके रोज इसकी पूजा करे। इस उपाय से घर की दरिद्रता दूर होती है और लक्ष्मी कृपा बानी रहती है।

(2) शिवरात्रि पर रात में किसी शिव मंदिर में दीपक जलाये। शिवपुराण के अनुसार कुबेर देव ने पूर्व जन्म में रात के समय शिवलिंग के पास रोशनी की थी। इसी वजह से अगले जन्म में वे देवताओ के कोषाध्यक्ष बने।

(3) यदि आप चाहे तो शिवरात्रि पर स्फटिक के शिवलिंग की पूजा कर सकते है। घर के मंदिर में जल, दूध, दही, घी, शहद और शक्कर से इस शिवलिंग को स्नान कराए। मन्त्र – ओम नम: शिवाय। मंत्र जप कम से कम १०८ बार करे।
(4) हनुमानजी भगवान शिव के ही अवतार माने गए है। शिवरात्रि पर हनुमान चालीसा का पाठ करने से हनुमानजी और शिवजी को प्रसन्नता प्राप्त होती है। इनकी कृपा से भक्त की सभी परेशानिया दूर हो सकती है।

(5) किसी सुहासिन को सुहाग का सामान उपहार में दे। जो लोग यह उपाय करते है , उनके वैवाहिक जीवन की समस्याय दूर हो सकती है। सुहाग का सामान जैसे – लाल साड़ी, लाल चुडिया, कुमकुम आदि।

(6) महाशिवरात्रि पर किसी जरूरत मंद व्यक्ति को अनाज और धन का दान करे। शास्त्रो में बताया गया है की गरीबो को दान करने से पुराने सभी पापो का असर ख़त्म हो सकता है और अक्षय पुण्य की प्राप्त होती है।

(7) जो लोग शिवरात्रि पर किसी बिल्व वृक्ष के निचे खड़े होकर खीर और घी का दान करते है , उन्हें महालक्ष्मी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। ऐसे लोग जीवनभर सुख – सुविधाए प्राप्त करते है और कार्यो में सफल होते है।

(8) शिवपुराण के अनुसार बिल्व वृक्ष महादेव का रूप है। इसलिए इसकी पूजा करे। फूल, कुमकुम, प्रसाद आदि चीजो विशेष रूप से चढ़ाये। इसकी पूजा से जल्दी शुभ फल मिलते है। शिवरात्रि पर बिल्व के पास दीपक जलाये।

Comments

comments