घर में तिजोरी वास्तु अनुसार कहा रखनी चाहिए |

4702

हर कोई व्यक्ति अपने दुकान अथवा घर में धन अथवा मूल्यवान वस्तु जैसे सोने के गहने आदि को सुरक्षित रखने के लिए अलमारी अथवा तिजोरी का प्रयोग अवश्य करता है. अलमारी अथवा तिजोरी से सम्बन्धित कुछ बाते ऐसी है जो बहुत ही महत्वपूर्ण है परन्तु ज्ञान के अभाव में व्यक्ति उन्हें जान नहीं पाता तथा जो धन की कमी का कारण बनती है.

आज जो उपाय हम आपको बताने जा रहे है वह बहुत ही अमूल्य विद्या वास्तु शास्त्र में वर्णित है. इससे पहले के हैं आपको उन उपायो के बारे में बताये सबसे पहले हम आपको वास्तु शास्त्र की विशेषता के बारे में बतलाते की क्यों यह विद्या प्रभावकारी एवम अमूल्य है.

हमारे आसपास की सृष्टि में व्यक्ति को अनेक मुश्किलों से बचाव के लिए हमारे प्राचीन महान ऋषि मुनियों ने वास्तु शास्त्र के इस विशेष विद्या का सृजन किया. वास्तु शास्त्र का मुख्य उद्देश्य ही मनुष्य को कल्याण के मार्ग में लगाना है.

वास्तु शब्द का अर्थ है – निवास करना, रहना . जिस जगह पर हम निवास करते हैं उसे वास्तु कहते हैं . वास्तुशास्त्र यह मनुष्य को मिला हुआ एक अनमोल तोहफा है . वास्तु शास्त्र यह पूरी तरह से निसर्ग से बना हुआ है, निसर्ग में स्थित दृश्य- अदृश्य, चेतन- अचेतन, ये सब इस ब्रहमांड को बनाने वाले विश्वनिर्माता के अंग हैं .

वास्तु शास्त्र पूर्णतः दिशाओ पर आधारित है तथा भवन अथवा घर के निर्माण के समय वह वास्तु अनुसार बनाना ज्यादा उपयुक्त रहता. इससे घर में कभी भी आर्थिक संकट, और अन्य विपदा नहीं आती. केवल निर्माण कार्य है नहीं वास्तु विद्या अन्य अनेको समस्याओ से मुक्ति प्राप्त करने के लिए प्रयोग में लायी जाती है.

tijori में तिजोरी से सम्बन्धित 7 विशेष उपयो के बारे में बतलाया गया है जो बहुत ही आसान है तथा यदि आप इन उपायो को करते है तो आपके दूकान अथवा घर में कभी भी पैसो की कमी नहीं होगी.

1 . अपने दूकान अथवा घर में तिजोरी व अलमारी को ऐसे स्थान पर रखे जहा किसी अन्य व्यक्ति की नजर उस पर ना पड़े, यदि आप गुल्लक में भी धन संचित करते है तो उसे भी ऐसे स्थान पर रखे जहा से कोई अन्य व्यक्ति उसे देख ना पाए.

क्योकि यदि बाहर के व्यक्तियों के नजरे बार-बार आपके तिजोरी अथवा अलमारी पर पड़ती है तो यह वास्तु शास्त्र के अनुसार शुभ नहीं माना जाता तथा दरिद्रता को निमंत्रण देने वाला होता है.

2 . वास्तु शास्त्र के अनुसार व्यक्ति को अपने दूकान अथवा घर के गल्ले या तिजोरी में कुबेर यंत्र रखना चाहिए. यह उपाय धन में वृद्धि करेगा तथा इसके साथ व्यक्ति को अपने कारोबार में सफलता हासिल होगी.

3 . कोट कचहरी या मुकदमे से सम्बन्धित कागजात आदि कभी भी भूल से नकदी व गहनों के साथ तिजोरी में नहीं रखनी चाहिए. अन्यथा व्यक्ति को धन हानि हो सकती है.

4 . वास्तु शास्त्र में बताया गया है की धन रखने की अलमारी अथवा तिजोरी को सदैव उत्तर दिशा की ओर स्थापित करनी चाहिए ऐसा इसलिए है क्योकि धन के देवता कुबेर का भी निवास स्थान उत्तर दिशा की तरफ है.

 

5 . अगर तिजोरी अथवा अलमारी को उत्तर दिशा में रखने में कोई समस्या आ रही हो तो उन्हें पूर्व दिशा की ओर भी रखा जा सकता है क्योकि वास्तु शास्त्र के अनुसार पूर्व दिशा भी धन वृद्धि के लिए शुभ मानी जाती है.

6 . वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा घर अथवा भगवान की मूर्ति के नीचे धन नहीं रखना चाहिए यह अशुभ होता है.

7 . तिजोरी को कभी भी खाली न रखे उसमे कुछ न कुछ होना चाहिए अन्यथा आर्थिक समस्या उतपन्न होती है.

Comments

comments

LEAVE A REPLY